You are here

हमें बखूबी हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष आपको रुला देगा

Bharti Singh (भारती सिंह)

गरीबी हो या अमीरी सपने देखने और उसको पूरा करने का हक़ सबको है,इसी शब्द को सच कर दिखाया है कॉमेडी क्वीन भारती सिंह ने, जो इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ के जरिए मंच पर पहली बार आयी थी और अपने इसी टैलेंट से लोगों का मनोरंजन किया, तथा इसी हुनर को आगे बढ़ाया।

हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष2 साल की आयु में सिर से उठा पिता का साया

भारती सिंह का जन्म 3 जुलाई 1986 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था। भारती जब 2 साल की थी, तभी पिता का साया उनके सिर से उठ गया था। जिसके बाद भारती की मां पर परिवार को संभालने की जिम्मेदारी आ गई थी। तब उनकी मां ने एक फैक्ट्री में काम करना शुरू कर दिया ताकि बच्चों की परवरिश में कोई कमी न आए। इसके साथ ही उनकी मां घर आकर सिलाई का काम भी करती थी। एक मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखने की वजह से भारती को बचपन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। घर की आर्थिक हालत सही नहीं होने की वजह से घर के सदस्यों को यह भी मालूम नहीं होता था कि उनको शाम का खाना नसीब हो पायेगा या नहीं। कई बार भारती के परिवार को आधा पेट खाना खाकर ही सोना पड़ता था।

हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष – मोटापे को लेकर लोगो ने बनाया था मज़ाक

हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष – भारती बचपन से ही गोलू-मोलू सी है, लेकिन कुछ लोग भारती के मोटापे को लेकर मज़ाक उड़ाते थे। जिसकी वजह से भारती दुःखी होकर रोने लग जाती थी। लेकिन फिर भी वो स्कूल जाती और कितना भी हो लोगों द्वारा मज़ाक उड़ाने के बाद भी हिम्मत नहीं हारती थी। भारती ने प्राथमिक शिक्षा एक सरकारी स्कूल से प्राप्त की है और आई. के गुजराल पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से इतिहास विषय में पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री प्राप्त की हुई है। हालांकि भारती ने पिस्टल शूटिंग के खेल में पंजाब को रिप्रेजेंट किया था और भारती ने कई खिताब अपने नाम किए, जिसके बाद उन्हें पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी में स्कालरशिप पर एडमिशन मिला।

हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष – द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज के ऑडिशन में हुई थी सफल

हंसाने वाली भारती के जीवन का संघर्ष – खेल में बेहतरीन होने की वजह से भारती पिस्टल शूटिंग में करियर बनाना चाहती थी। लेकिन उनके परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी की उसका खर्च उठा सके, जिसके बाद भारती का पिस्टल शूटिंग करने का सपना टूट कर रह गया। हर समय दूसरों को हंसाने वाली भारती ने असल जिंदगी में काफी तकलीफें देखी हैं। फिर भारती ने अपनी किस्मत कॉमेडी में आजमानी चाही। तब भारती को एक दिन अचानक द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज के ऑडिशन के बारे में जानकारी मिली। जिसका ऑडिशन अमृतसर में ही उस समय होने वाला था। भारती वहां ऑडिशन देने के लिए पहुंची, जहां उनका सेलेक्शन भी हो गया। सेलेक्शन होने के बाद भारती की खुशी का ठिकाना न रहा और तुरंत उन्होंने ये बातें अपनी मां को बतायी। लेकिन जब ये बात उनके रिश्तेदारों को पता चली तब वो मज़ाक बनाने लगे और उन्होंने इतना तक कह दिया अब भारती की शादी किसी अच्छे खानदान में नहीं हो पाएगी। लेकिन भारती और उनकी मां ने बातों को नज़रअंदाज़ करते हुए 2008 में मुंबई की तरफ रूख किया। भारती ने तय कर लिया था चाहें अब कुछ भी हो जाए अब अपने सपने को चकनाचूर नहीं होने दूंगी।

बॉलीवुड फिल्मों में बनायी पहचान

मुंबई पहुंचकर भारती ने कॉमेडी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ में भाग लिया और अपने कॉमेडी के जरिए लोगों को खूब हंसाया। हालांकि इस रियलिटी शो के दौरान भारती विनर तो न बन सकी, लेकिन इस शो से उनकी ज़िन्दगी बदल गई। ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ शो के बाद भारती ने कॉमेडी सर्कस में भाग लिया था, इस शो से भी उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी। इसके बाद उन्होंने कई सारे कॉमेडी शोज़ में काम किया। जिनमें कॉमेडी सर्कस महासंग्राम, कॉमेडी सर्कस का जादू, कॉमेडी नाइट्स जैसे शो शामिल हैं। भारती कॉमेडियन के साथ ही एक बेहतरीन डांसर भी हैं, जिसकी झलक रियलिटी शो “झकल दिखला जा” में लोगों के सामने प्रस्तुत कर चुकी हैं। भारती सिंह ‘ सनम रे और खिलाडी 786 जैसे बॉलीवुड फिल्मों में भी नज़र आ चुकी हैं।

संघर्ष से बना हुआ रास्ता भारती सिंह ने बखूबी तय किया, ज़िन्दगी में दूसरों को हसाना और इसमें अपने करियर को आगे लेकर जाना बहुत ही मुश्किल होता है। लेकिन इस रास्ते को भी सच कर दिखाया कॉमेडियन भारती सिंह ने।

Best Technology Essential Part:-

Leave a Reply

Top